Like Us Facebook

आयुष्मान कार्ड आज से जिले में आज से बनेंगे निःशुल्क ..5 लाख तक के मुफ्त इलाज सुविधा.

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना डाॅ. खूबचंद स्वास्थ्य सहायता योजनांतर्गत अधिक से अधिक हितग्राहियों को लाभ देने के उद्वेश्य से केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार के द्वारा ''आपके द्वार आयुष्मान'' योजना का क्रियान्वयन 01 मार्च से 31 मार्च 2021 तक किया जा रहा है। शासन के निर्देशानुसार जिले के च्वाइस सेंटरो में हितग्राहियों को निःशुल्क आयुष्मान कार्ड उनकी पात्रता के आधार पर बनाकर दिया जावेगा। इन कार्डों द्वारा बी.पी.एल एवं प्राथमिकता वाले राशन कार्ड में प्रतिवर्ष 5 लाख रूपये एवं सामान्य राशन कार्डधारी परिवारों को 50 हजार रूपये तक कि मुफ्त चिकित्सा सुविधा राज्य के किसी भी पंजीकृत निजी एवं शासकीय चिकित्सालयों में करा सकेंगे।

च्वाइस सेंटर में निःशुल्क बनेगा आयुष्मान कार्ड
आयुष्मान कार्ड बनाने का आरम्भ 01 मार्च से देश भर में किया जा रहा है। जिसमें जिले के समस्त च्वाइस सेंटरो के द्वारा हितग्राहियों को निःशुल्क आयुष्मान भारत का कार्ड बनाया जायेगा। कार्ड बनवाने के लिए हितग्राहियों को राशन कार्ड, आधार कार्ड, मोबाइल नंबर सहित च्वाइस सेंटरो में जाना होगा। च्वाइस सेंटर के द्वारा हितग्राहियांे को उनकी पात्रता के आधार पर आयुष्मान कार्ड निःशुल्क बनाया जाएगा।
इसके लिए च्वाॅइस सेंटरों द्वारा सर्वप्रथम हितग्राहियों को कागज में आयुष्मान कार्ड प्रदान किया जाएगा। कुछ दिनों उपरांत च्वाइस सेंटर के केंद्रीय कार्यालय से इन हितग्राहियों के प्लास्टिक कार्ड संबंधित च्वाइस सेंटर को प्रेषित किए जाएंगे। च्वाइस सेंटर द्वारा प्लास्टिक कार्ड प्राप्त होने की सूचना हितग्राहियों को दी जाएगी। हितग्राही च्वाइस सेंटर से ही पुनः बायोमेट्रिक अथेंटीकेसन उपरांत पीव्हीसी आयुष्मान कार्ड प्राप्त कर सकेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी टीआर कुँवर ने जिले के नागरिकों से अपील की है कि वे 01 मार्च से 31 मार्च के मध्य चॉइस सेंटर जाकर अपना कार्ड बनावें।

- 5 लाख रुपए की सहायता प्रदान की जा रही है
- चॉइस सेंटर में पूरी तरह नि:शुल्क बनेंगे
- छत्तीसगढ़ में आयुष्मान भारत पीएम जनआरोग्य डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना का संचालन

 इस कार्ड को दिखाते ही राज्य के अनुबंधित सरकारी और गैर सरकारी अस्पतालों में शत-प्रतिशत नि:शुल्क इलाज मिलेगा। 1 मार्च से 31 मार्च 2021 तक प्रदेश के चॉइस सेंटर में नि:शुल्क कार्ड बनाएं जाएंगे। 25 फरवरी को आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जनआरोग्य डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना की राज्य नोडल एजेंसी ने इससे संबंधित गाइडलाइन सभी सीएमएचओ को जारी कर दी।

केंद्र सरकार के अभियान ‘आपके द्वार आयुष्मान’ अंतर्गत कार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। कांग्रेस सरकार के सत्ता में आते ही सरकार ने राज्य में राशन कार्ड के जरिए नि:शुल्क इलाज की घोषणा कर दी थी। जो अभी भी जारी है। मगर, यह देखा गया कि कार्ड होने से लोग ज्यादा संतुष्ट होते हैं कि उन्हें जरुरत के वक्त सरकारी सहायता मिलेगी। पूर्व में स्मार्ट कार्ड की तर्ज पर ही ये कार्ड बनने जा रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश में 65,49,159 परिवारों को इस अभियान का लाभ मिलेगा। केंद्र सरकार ने निर्देश दिए हैं कि इस अभियान के प्रचार-प्रसार के लिए मुनादी करवाएं, होर्डिंग्स, बैनर-पोस्टर, वॉल पेंटिंग और शिविरों का आयोजन करें। गाइडलाइन में कोरोना प्रोटोकॉल के पालन करने के निर्देश दिए गए हैं।

50 हजार और 5 लाख तक की सहायता
केंद्र सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना अंतर्गत हितग्राही बीपीएल परिवारों के लिए 5 लाख रुपए की सहायता प्रदान की जा रही है, जबकि राज्य सरकार द्वारा एपीएल परिवारों को अपने तहत 50 हजार रुपए की तक स्वास्थ्य सहायता दी जा रही है।

*ऐसे बना सकते हैं कार्ड*
*1- व्यक्तिगत पहचान पत्र के लिए आधार कार्ड। पारिवारिक सदस्यता सत्यापन के लिए राशनकार्ड ले जाना होगा।*
*2- प्रक्रिया पूरी होते ही पहले कागज वाला कार्ड मिलेगा, कुछ दिनों के संबंधित चॉइस सेंटर पर आपके कार्ड बन जाने की जानकारी भेजी जाएगी। वहां से बाद बायोमेट्रिक सत्यापन के बाद प्लास्टिक कार्ड जारी होंगे*
(नोट- इस संबंध अधिक जानकारी के लिए मितानीन, स्वास्थ्य कार्यकर्ता एएनएम और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से सहायता ली जा सकती है।)

Post a Comment

1 Comments

  1. Ayushman Card is Very Essential for every Poor People... Thanks for this Post

    ReplyDelete