न्यूज़, ब्लॉग , चर्चित व्यक्तिव , पर्यटन और सामाज और धर्म कर्म की खबरे देखो दुनिया लेकिन हमारे भाटापारा के नजरिये से ...........

कृषि विज्ञान केंद्र, भाटापारा, छत्तीसगढ़



Krishi Vigyan Kendra, Bhatapara, Chhattisgarh
कृषि विज्ञान केंद्र, भाटापारा, छत्तीसगढ़

Indira Gandhi Krishi Vishwavidyalaya, Raipur, Chhattisgarh
इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर, छत्तीसगढ़



Home(current)


कृषि विज्ञान केंद्र, भाटापारा, छत्तीसगढ़



  • कृषि विज्ञान केन्द्र भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान नई दिल्ली द्वारा पोषित एवं इंदिरा गांधी कृषि विष्वविद्यालय, रायपुर (छ.ग.) द्वारा संचालित संस्थान है। अनुसंधान केन्द्रों से अनुषंसित नवीन कृषि उत्पादन तकनीकों को जिले के विकास खण्डस्तर की भू-जलवायु के आधार पर परीक्षण कर उसमें आवष्यकतानुसार संषोधन कर कृषकों में प्रसारित करने के लिये अनुषंसित करना कृषि विज्ञान केन्द्र का प्रमुख उद्देष्य एवं कार्य है।
  • इन्हीं उद्देष्यों को ध्यान में रखते हुए कृषि विज्ञान केन्द्र, भाटापारा (जिला-बलौदाबाजार-भाटापारा) की स्थापना नवंबर 2004 को की गई।
  • क्रियाकलाप -
  • कृषि एवं कृषि संबंधी अन्य प्रणालियों में उत्पादन को प्रभावित करने वाले कारकों का अवलोकन कर समाधान हेतु कार्य करना।
  • जिले की भू-जलवायु के कारण कृषि के उत्पादन को प्रभावित करने वालों कारणों को जानना तथा उसके अनुरूप कृषि तकनीकी का कृषक प्रक्षेत्र पर मूल्यांकन करना एवं आवष्यकता अनुरूप उसमें संषोधन करना।
  • कृषि तकनीकी के मूल्यांकन उपरांत उचित कृषि तकनीकीयों का कृषक प्रक्षेत्र पर विषय वस्तु विषेषज्ञों द्वारा अग्रिम पंक्ति प्रदर्षन कर उत्कृष्ठ प्रदर्षन को कृषकों एवं संबंधित विभाग के विस्तार अधिकारियों को अवगत कराना तथा आवष्यकता अनुरूप कृषि तकनीकीयों पर कृषकों एवं विस्तार अधिकारियों को प्रषिक्षण देना।
  • नवीनतम कृषि तकनीकों से संबधित जानकारियों तथा कुषलता को बढ़ाने हेतु कृषकों व कृषक महिलाओं के लिए तथा सेवारत कृषि, उद्यानिकी, वानिकी, पशुपालन विभाग के कर्मचारियों/अधिकारियों हेतु प्रषिक्षण का आयोजन करना।
  • जिले की कृषि आय को उत्कृष्ट बनाने हेतु विभिन्न कृषि तकनीकों के स्त्रोत व ज्ञान केन्द्र के रूप में कार्य करना।


News/ Announcement
Krishi Vigyan Kendra, Bhatapara (C.G) launching the news website for the peoples of Bhatapara.
Share:

0 Comments:

Post a Comment

Followers

Search This Blog

Popular Posts

Blog Archive

Popular Posts